Breaking News

Omicron diagnosis: ओमिक्रॉन के लक्षण, कब कराएं खुद का Covid Test?

 Omicron diagnosis: ओमिक्रॉन के लक्षण, कब कराएं खुद का Covid Test?

कोविड-19 का नया वेरिएंट ओमिक्रॉन दुनिया के कई हिस्सों में तेज गति से फैल रहा है। माना जाता है कि ओमिक्रॉन के लक्षण डेल्टा की तुलना में हल्के होते हैं, बावजूद इसके बढ़ते मामलों ने लोगों के मन में डर और दहशत फैला दी है। अब लोग कोरोनावायरस की तीसरी लहर को लेकर चिंता व्यक्त कर रहे हैं। सरकार ने कहा है कि देश का आर नॉट , जो संक्रमण के प्रसाव को दर्शाता है , 2.69 है। यह महामारी की दूसरी लहर के दौरान दर्ज किए गए 1.69 से ज्यादा है।
Omicron diagnosis,corona news,latest news,news hindi,breaking news,google news


भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव ने कहा है कि शहरों में कोविड मामलों में तेजी से वृद्धि हो रही है।

बता दें कि भारत ने पिछले आठ दिनों में कोविड-19 मामलों में 6.3 गुना से ज्यादा की वृद्धि दर्ज की है। हाल ही में जारी हुए आंकड़ों के अनुसार, भारत में 24 घंटों में 90,928 कोविड मामले सामने आए हैं और 325 मौतें हुई हैं। विशेषज्ञ कहते हैं कि अभी ओमीक्रॉन वेरिएंट से संबंधित जटिलताओं और टीकों की प्रभावशीलता के बारे में कुछ भी कहना जल्दबाजी हेगी। क्योंकि स्ट्रेन नया है और इस पर बहुत ज्यादा डेटा उपलब्ध नहीं है। वतर्मान हालातों को देखते हुए संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए सबसे अच्छा समाधान है , कि इसके लक्षणों से जुड़ी सभी जानकारी हासिल करें, कोविड नॉर्म का पालन करना और वैक्सीन लगवाएं।

​ओमिक्रॉन के लक्षण क्या हैं

अब तक के निष्कर्षों के आधार पर ज्यादातर लोगों के लिए ओमिक्रॉन वेरिएंट के साथ संक्रमण हल्का दिखाई देता है, लेकिन इसके लक्षण गंभीर भी हो सकते हैं। अब तक के साक्ष्य बताते हैं कि यह वेरिएंट डेल्टा वेरिएंट और ऑरीजनल कोविड-19 स्ट्रेन दोनों की तुलना में फेफड़ों को कम नुकसान पहुंचाता है।

दक्षिण अफ्रीकी मेडिकल एसोसिएशन की अध्यक्ष डॉ. एंजेलिक कोएत्जी ने कहा है कि पॉजिटिव परीक्षण करने वाले लोगों में बेहद हल्के लक्षण होते हैं, लेकिन कमजोर इम्यूनिटी वाले लोगों पर इसके प्रभाव को पूरी तरह से समझने के लिए अभी और समय की जरूरत है। थकान, शरीर में दर्द, सिरदर्द, गले में खराश, रात में पसीना आना, सूखी खांसी, बुखार, बहती नाक, छींक आना, मतली ओमिक्रॉन संक्रमण से जुड़े कुछ मुख्य लक्षण हैं। पेरासिटामोल लेने और भरपूर आराम करने से संक्रमण के प्रभाव को कम करने में मदद मिलेगी।


अन्य कोविड-19 स्ट्रेन की तरह ओमिक्रॉन के लक्षण कुछ दिनों के अंदर स्पष्ट हो जाते हैं। डॉ. कोएत्जी ने बताया कि ओमिक्रॉन से संक्रमित वाले लोगों में मौजूद लक्षण डेल्टा वेरिएंट के मुकाबले बहुत हल्के होते हैं। इस स्थिति में मरीज अक्सर मांसपेशियों में दर्द, सिरदर्द और थोड़ी थकान का अनुभव करता है। इससे ज्यादा कुछ नहीं होता। लगभग पांच दिनों के बाद लक्षण खत्म हो जाते हैं।

​कोविड के लक्षण दिखने में कितना समय लगता है

WHO के अनुसार, कोविड-19 से संक्रमित किसी व्यक्ति को किसी भी लक्षण का अनुभव करने में औसतन 5 से 6 दिन लगते हैं। कुछ मामलों में 14 दिन भी लग सकते हैं। ओमिक्रॉन के मामले में भी संक्रमण के 3 से 14 दिन के बीच कभी भी दिखाई दे सकते हैं।

पॉजीटिव कोविड-19 का टेस्ट कब तक कर सकते हैं

कोविड नॉर्म में ढील के साथ पूरे देश में लोगों की आवाजाही फिर से शुरू हो गई है। यदि आप नियमित रूप से बाहर जा रहे हैं, तो कोविड नॉर्मस का पालन नहीं कर रहे हैं, तो संक्रमित होने का खतरा ज्यादा है। यदि आपका कोविड टेस्ट पॉजीटिव आता है, तो इसका मतलब है कि टेस्ट के समय आपको कोविड-19 था।

हालांकि एक बीमार व्यक्ति लक्षणों की शुरूआत से लगभग दो दिन पहले और 10 दिनों तक दूसरों को संक्रमित करना शुरू कर देता है। कोरोनावायरस के अनुबंध के बाद निगेटिव टेस्ट में लगने वाला समय मामले की गंभीरता पर निर्भर करता है। पॉजीटिव कोविड-19 का हफ्तों तक टेस्ट करना संभव है। लेकिन पॉजीटिव रिजल्ट आने के बाद भी लोगों के लंबे समय तक संक्रामक नहीं होने की संभावना बनी रहती है।

​आइसोलेट होना कब बंद करें
अगर आपका कोविड टेस्ट पॉजीटिव आता है, तो आपका सेल्फ आइसोलेशन पीरियड 10 दिनों का होना चाहिए। आप 10 दिनों के बाद सेल्फ आइसोलेट होना बंद कर सकते हैं, वो भी बस तब, जब -

आपको कोई लक्षण नहीं है
आपको बस खांसी है
आपकी गंध या स्वाद की भावना में परिवर्तन दिख रहा है।
बता दें कि ये संक्रमण के जाने के बाद भी हफ्तों तक रह सकते हैं। अगर आपको 10 दिनों के बाद तेज बुखार है, या आप अस्वस्थ महसूस कर रहे हैं, तो खुद को अलग रखें और डॉक्टर से संपर्क करें।

​कोविड पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आ जाएं तो क्‍या करें

यदि आप किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आए हैं, जिसका कोविड टेस्ट पॉजिटिव आया है , तो तुरंत खुद को आइसोलेट कर लें। फिर भले ही आपके वैक्सीन क्यों न लगवा ली हो। संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए कम से कम 10 दिनों तक दूसरों से दूरी बनाए रखें। इस बीच अपना टेस्ट करवाएं। यदि आप आइसोलेशन पीरियड के दौरान कोविड-19 से संबंधित कोई भी लक्षण देखते हैं, तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

कोई टिप्पणी नहीं